नई दिल्ली। भारत की स्टार मुक्केबाज और ओलंपिक पदक विजेता एमसी मैरीकॉम यहां आईजी स्टेडियम में बुधवार से शुरू हो रही आईबा महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप-2018 में अपने छठे खिताब की तलाश में चुनौती पेश करेंगी। चैंपियनशिप में 48 किलोग्राम भार वर्ग में भारत की दिग्गज मुक्केबाज मैरीकॉम अपने छठे विश्व चैम्पिनयशिप खिताब की दौड़ में उतरेंगी। 35 साल की मैरीकॉम विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में वर्ष 2002 अंताल्या, 2005 पोडोल्स्क, 2006 नयी दिल्ली, 2008 निंगबो सिटी, 2010 ब्रिजटाउन में स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं जबकि वर्ष 2001 स्क्रांटन में उन्होंने रजत पदक जीता था।

73 देशों की 300 मुक्केबाज 10 अलग-अलग भार वर्ग में प्रतिस्पर्धा करती दिखाई देंगी। इन खिलाडिय़ों की मौजूदगी से यह टूर्नामेंट पिछले साल भारत में ही आयोजित किए गए फीफा यूथ विश्व कप के बाद एकल स्पर्धा का सबसे बड़ा टूर्नामेंट भी होगा। चैम्पियनशिप के 10वें संस्करण में स्कॉटलैंड, माल्टा, बंगलादेश, केमैन आइसलैंड, डीआर कोंगो, मोजाम्बिक, सिएरा लियोन और सोमालिया जैसे देश पदार्पण कर रहे हैं। एशियाई देशों के अलावा अमेरिका, प्यूर्ताे रिको और कुछ यूरोपियन देशों की मुक्केबाजों से भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है। इस टूर्नामेंट की अहमियत इस बात से ही पता चलती है कि 12 देशों की खिलाड़ी एक सप्ताह पहले ही यहां आ चुकी हैं ताकि वह यहां के हालात से वाकिफ हो सकें और अन्य देशों के खिलाडिय़ों के साथ समय बिता कर अहम दिन के लिए अपने आप को तैयार कर सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.