राजस्थान ने दिल्ली को पछाड़ा

125

राजस्थान रायल्स ने जीत के सिलसिले के बरकरार रखते हुए दिल्ली डेयरडेविल्स पर सात विकेट से शानदार जीत दर्ज की। आइपीएल में राजस्थान की छह मैचों में यह चौथी जीत है। अपने घरेलू मैदान पर दिल्ली डेयरडेविल्स के प्रदर्शन ने यकीनन उनके समर्थकों को मायूस किया होगा। दिल्ली की टीम कभी भी रंगत में नहीं दिखी और फीरोजशाह कोटला मैदान पर राजस्थान रायल्स की टीम ने चमकदार प्रदर्शन कर दिल्ली की जीत की उम्मीदों पर पानी फेर दिया। दिल्ली की छह मैचों में यह चौथी हार रही। बल्लेबाजी का न्योता पाकर दिल्ली की टीम ने पांच विकेट पर 152 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करते हुए राजस्थान रायल्स की टीम ने तीन विकेट पर 156 रन बना कर मैच जीत लिया। पिछले सत्र में भी राजस्थान रायल्स ने दिल्ली को फीरजशाह कोटला मैदान पर एलिमिनेटर में हरा कर उसे टूर्नामेंट से बाहर कर दिया था। यह उम्मीद की जारही थी कि दिल्ली की टीम पिछले साल राजस्थान के हाथों मिली हार का बदला लेकर हिसाब चुकता करेगा। लेकिन ऐसा नहीं हुआ।
दिल्ली के लिए शनिवार को कुछ भी ठीक नहीं रहा। दिल्ली के कप्तान पीटरसन ने पहले टास गंवाया। फिर न तो बल्लेबाज रंग में दिखे और न ही गेंदबाजों ने चमक दिखाई। ओपनर क्विंटन डिकाक व मध्यक्रम में जेपी डुमिनी और केदार जाधव ने थोेड़ा ताबड़तोड़ नहीं किया होता तो दिल्ली का स्कोर 150 के पार नहीं जा पाता। दिल्ली के लिए तसल्ली वाली बात यह रही कि अंतिम पांच ओवर में उसने 58 रन जोड़ कर स्कोर को सम्मानजनक बनाया। केन रिचर्डसन के अंतिम ओवर में 18 रन बने। इसमें दो छक्का और एक चौका लगा। रही-सही कसर दिल्ली के गेंदबाजों ने पूरी कर दी। न तो स्पिनरों ने राजस्थान के बल्लेबाजों को परेशानी में डाला और न ही मध्यम तेज गेंदबाजों ने। दूसरी तरफ राजस्थान रायल्स की टीम ने अनुशासित गेंजबाजी की। 153 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए राजस्थान के बल्लेबाजों ने किसी तरह की हड़बड़ाहट नहीं दिखाई और खुद को संयमित रखा और नौ गेंद बाकी रहते ही 156 रन बना कर जीत दर्ज की। ओपनर करुण नायर ने 50 गेंदों पर आठ चौके और दो छक्के की मदद से शानदार 73 रन बनाए और नाबाद रहे। यह उनके करिअर का श्रेष्ठ प्रदर्शन रहा। उन्हें मैन आफ द मैच चुना गया। फीरोजशाह कोटला में बड़ी तादाद में दर्शक नहीं पहुंचे थे। कई स्टैंड तो खाली थे। हालांकि दिल्ली के खिलाड़ियों का हौसला बनाने में मौजूद दर्शकों ने किसी तरह की कोताही नहीं की। हालांकि दिल्ली की टीम में एक भी खिलाड़ी दिल्ली का नहीं है और ऐसा पहली बार हुआ है।
लक्ष्य का पीछा करते हुए राजस्थान ने लय में चल रहे बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे का विकेट शुरू में ही गंवा दिया। तब स्कोर बोर्ड पर 20 रन ही टंगे थे। वायने पर्नेल की गेंद पर सही टाइमिंग से लगाए गए उनके कवर ड्राइव को मुरली विजय ने बड़ी खूबसूरती से कैच में बदला। रहाणे ने सिर्फ 12 रन बनाए। पारी का आगाज करने उतरे नायर और संजू सैमसन ने इसके बाद सहजता से पारी आगे बढ़ाई। सैमसन ने इस बीच जयदेव उनादकट पर पारी का पहला छक्का भी उड़ाया। सैमसन ने शाहबाज नदीम पर भी लांग आन पर छक्का जड़ा लेकिन इसी ओवर में आगे बढ़कर खेलने के प्रयास में वे संतुलन नहीं बना पाए और बाकी काम विकेटकीपर दिनेश कार्तिक ने किया। संजू ने नायर के साथ मिल कर दूसरे विकेट के लिए 51 रन की साझेदारी की। सैमसन के आउट होने से हालांकि रन गति पर असर नहीं पड़ा। नायर ने इसके बाद अपने हाथ
खोले और उनाटकट की गेंद एक्स्ट्रा कवर पर छक्के के लिए भेजी। ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी के लिए आए स्थानीय खिलाड़ी रजत भाटिया ने भी लेग स्पिनर राहुल शर्मा पर छक्का जमाया। नायर ने पारी के 13वें ओवर में प्वाइंट क्षेत्र से गेंद चार रन के लिए निकालकर स्कोर स्कोर रन के पार पहुंचाया। जब रायल्स की आसान जीत की तरफ बढ़ रही थी तो मोहम्मद शमी ने भाटिया को बोल्ड कर दिल्ली खेमे में उम्मीद जगाई। लेकिन कप्तान शेन वाटसन ने दिल्ली को फिर जश्न मनाने का मौका नहीं दिया। वाटयन ने आते ही नदीम की गेंद छह रन के लिए भेज कर अपने इरादे जाहिर कर दिए। बीच में ओएनजीसी पवेलियन के रसोईघर में लगी आग से उठा धुंआ भी वाटसन का ध्यान भंग नहीं कर पाया। उधर अपना अर्धशतक पूरा करने के बाद नायर ने अपने हाथ खोले। उन्होंने उनादकट पर पहले छक्का और बाद में दो चौके लगाए। इनमें विजयी चौका भी शामिल है।
इससे पहले डेयरडेविल्स की तरफ से डिकाक ने शुरू में रन बनाने का बीड़ा उठाया लेकिन बीच में तेजी से विकेट गिरने से उसकी रन गति प्रभावित हुई। मुरली विजय और कप्तान केविन पीटरसन दोनों ने मायूस किया। फाकनर ने चौथे ओवर में ही विजय को मिड आफ पर कैच कराया। इसके बाद प्रवीण तांबे का जलवा दिखाी दिया। एक ही ओवर में उन्होंने पहले पीटरसन और फिर डिकाक को चलता कर दिल्ली की बढ़त को थाम दिया। पीटरसन उनकी फ्लाइट पर सही टाइमिंग से शाट नहीं लगा पाए और लांग आन पर स्टीवन स्मिथ को कैच दे बैठे। फिर तांबे ने इसी ओवर में डिकाक का रिटर्न कैच लेकर डेयरडेविल्स को परेशानी में डाला। डिकाक ने अपनी 33 गेंद की पारी में पांच चौके और एक छक्का जड़ा। अपनी इस पारी के दौरान उन्होंने टी20 क्रिकेट में 2000 रन भी पूरे किए। कोटला की पिच से अच्छी तरह वाकिफ उपकप्तान कार्तिक जूझते रहे। पंद्रह ओवर के बाद भी जब स्कोर सौ रन तक नहीं पहुंच पाया तो उन्होंने गेंद दर्शकों तक पहुंचाने के प्रयास में डीप मिडविकेट पर स्टुअर्ट बिन्नी को कैच थमा दिया। उनकी जगह आए जाधव ने फाकनर के इसी ओवर में शार्ट पिच गेंद को हुक करके छह रन के लिए भेज कर स्कोर सौ के पार पहुंचाया। डुमिनी ने दूसरे छोर पर अच्छी बल्लेबाजी और आखिर के ओवरों में तेजी से रन जुटाए। केन रिचर्डसन का आखिरी ओवर घटनाप्रधान रहा। डुमिनी ने उन पर स्क्वायर लेग में दर्शनीय छक्का लगाया। अगली गेंद भी उन्होंने सही टाइमिंग से सीमा रेखा की तरफ भेजी थी लेकिन रजत भाटिया ने सीमा रेखा पर दौड़ लगाते हुए उसे कैच में बदल दिया। किया। जाधव ने अगली दो गेंदों पर चौका और फिर छक्का जड़कर स्कोर 150 रन तक पहुंचाया। जाधव ने 14 गेंदों पर अपनी 28 रनों की पारी में दो चौके व दो छक्के उड़ाए।
स्कोर बोर्ड
दिल्ली डेयरडेविल्स: क्विंटन डिकाक का एवं बो ताम्बे 43, मुरली विजय का वाटसन बो फाकनर 13, केविन पीटरसन का स्मिथ बो ताम्बे 14, दिनेश कार्तिक का बिन्नी बो फाकनर 12, जेपी डुमिनी का भाटिया बो रिचर्डसन 39, केदार जाधव नाटआउट 28, वायने प्नाटआउट 0, अतिरिक्त 3, कुल (पांच विकेट पर) 152 रन।
विकेट पतन: 1-33, 2-69, 3-71, 4-95, 5-141
गेंदबाजी: बिन्नी 1-0-9-0, रिचर्डसन 4-0-39-1, कुलकर्णी 3-0-18-0, वाटसन 1-0-11-0, फाकनर 4-0-26-2, तांबे 4-0-26-2, भाटिया 3-0-21-0
राजस्थान रायल्स: अजिंक्य रहाणे का विजय बो पर्नेल 12, करुण नायर नाटआउट 73, संजू सैमसन स्टं कार्तिक बो नदीम 34, रजत भाटिया बो शमी 17, शेन वाटसन नाबाद 16, अतिरिक्त 4, कुल (18.3 ओवर में, तीन विकेट पर) 156 रन।
विकेट पतन : 1-20, 2-71, 3-115
गेंदबाजी: नदीम 4-0-30-1, शमी 4-0-22-1, पर्नेल 4-0-35-1, उनादकट 3.3-0-36-0, राहुल शर्मा 3-0-32-0ipl

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.