6 घंटे में ही लौट के बुद्धू कांग्रेस में आये

171

resसतना। राजनीति में कुछ भी स्थायी नहीं होता। चित्रकूट विधानसभा उप चुनाव के लिए राजनीतिक उठापटक तेज हो गयी है। दोनों प्रमुख दल एक-दूसरे के कार्यकर्ताआें एवं नेताओं पर डोरे डाल रहे हैं। मंगलवार को  दिवंगत विधायक प्रेम सिंह के भतीजे को बीजपी ने अपने दल में शामिल करने की घोषणा की तो कांग्रेस को बड़ा झटका लगा। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार व सांसद गणेश सिंह और पूर्व विधायक सुरेंद्र सिंह गहरवार दोपहर लगभग एक बजकर 15 मिनट दिवंगत विधायक के भतीजे मंगल सिंह के घर पहुंचे और उन्हें माला पहनाकर भाजपा में शामिल होने की घोषणा कर दी। इधर मंगलवार को नाम निर्देशन पत्रों की जांच के बाद 11 अभ्‍यर्थियों के पर्चें निरस्‍त कर दिये गये हैं, अब मैदान में 14 प्रत्‍याशी बचे हैं। नाम निर्देशन-पत्र वापस लेने की अंतिम तिथि 26 अक्टूबर है।

इधर, भाजपा अपनी इस जीत पर खुशी मना रही थी कि छह घंटे बाद ही मामला पलट गया। मंगल सिंह के साथ इस बार नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल दिख रहे थे। मंगल सिंह कह रहे थे कि कांग्रेस उनके लिए सब कुछ है। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह उनके गुरु हैं। भले ही प्राण चले जाएं, लेकिन वह कांग्रेस नहीं छोड़ेंगे। नंदकुमार चौहान घर आए थे, उन्होंने माला पहनाई तो हमने भी माला पहना दी। इस पर नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भाजपा गुमराह करने की राजनीति करती है। मंगल भाजपा में गए ही नहीं थे।

संवीक्षा में 11 अभ्यर्थी के नाम निर्देशन-पत्र निरस्त हुए

मध्यप्रदेश के सतना जिले के 61-चित्रकूट विधान सभा उप-चुनाव के लिए 25 अभ्यर्थियों के नाम निर्देशन-पत्रों की जाँच (संवीक्षा) आज की गई। संवीक्षा में 11 अभ्यर्थी के नाम निर्देशन-पत्र विधि सम्मत नहीं पाये जाने के कारण निरस्त कर दिये गये। जिन अभ्यर्थियों के नाम निर्देशन-पत्र निरस्त हुए उनमें भाजपा के पन्नालाल अवस्थी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सर्वश्री राजवंत सिंह, संजय सिंह और ओंकार सिंह, बहुजन समाजवादी पार्टी के श्री बद्रीनाथ, समाजवादी पार्टी के मो. साकिर हसन, राष्ट्रीय महान गणतंत्र पार्टी के श्री खुशीराम, भारतीय जन मोर्चा के श्री वरुण पाण्डेय तथा निर्दलीय सर्वश्री जय सिंह, राकेश कुमार एवं सुश्री सुभद्रा देवी शामिल हैं।

इस प्रकार अब 14 अभ्यर्थी शेष रहे गये हैं, जिनमें भारतीय जनता पार्टी के श्री शंकर दयाल त्रिपाठी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के श्री नीलांशु चतुर्वेदी तथा 12 निर्दलीय सर्वश्री शिववरण ‘जी”, दिनेश प्रसाद कुशवाह, रितेश त्रिपाठी, दीपक त्रिपाठी, देवमन सिंह, महेश साहू, मो. रज़ा हुसैन, अवधबिहारी मिश्रा, महेन्द्र कुमार मिश्रा, सुश्री राधा, सुश्री मरजीना और सुश्री प्रभात कुमारी सिंह शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.