नई दिल्ली। रसोई गैस की लगातार बढ़ती कीमतों को लेकर मोदी सरकार को जनता के विरोध का सामना करना पड़ रहा है। इसे देखते हुए सरकार अब नई योजना शुरू करने जा रही है जिसके तहत उज्ज्वला योजना की तर्ज पर गरीब परिवारों को आसान किस्तों में इंडक्शन चूल्हा मुहैया करवाया जाएगा।
इस योजना के लिए उर्जा मंत्रालय को भी प्रस्ताव भेज दिया गया है। इससे हर परिवार को सालाना पंद्रह सौ रुपए की बचत होगी। इंडक्शन चूल्हा शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में रहने वाले परिवारों को उपलब्ध कराए जाएंगे। चूल्हा खरीदने वाले परिवारों को हर माह बिजली के बिल के साथ किस्त अदा करनी पड़ेगी।
सिंगल इंडक्शन चूल्हे की कीमत करीब 800 रुपए और डबल इंडक्शन चूल्हे की कीमत लगभग 1500 रुपए होगी। सामान्य परिवार में इंडक्शन के जरिए खाना पकाने में करीब सौ यूनिट प्रति माह खर्च होगी। सरकार ने इस साल दिसंबर तक सौभाग्य योजना के तहत हर घर तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। 2022 तक सभी को 24 घंटे बिजली मुहैया कराने की रुपरेखा भी तैयार कर ली गई है।
बता दें कि रसोई गैस सिलेंडर के दाम लगातार 6 महीने से बढ़ रहे हैं। इसके चलते आम आदमी को अपने अन्य जरुरी खर्चो में कटौती करनी पड़ रही है। कोई भी एलपीजी गैस सिलेंडर उपभोक्ता वर्ष भर में 12 गैस सिलेंडर ही ले सकता है। इसमें उपभोक्ता को 373 रुपये की गैस सब्सिडी मिलती है, लेकिन इसका कोई समय निर्धारित नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.