फिर बोल्ड हुए सचिन

162
master blaster
god of cricket got bold

सचिन के आलोचकों को एक बार फिर से भगवान पर उंगलियां उठाने का मौका मिल गया है. न्यूजीलैंड के खिलाफ हुई ताजा टेस्ट सीरीज में क्रिकेट के भगवान माने जाने वाले बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर लगातार नाकाम रहे हैं. उनके रक्षण में लगातार तीन बार सेंध लगाई गई.

सचिन हैदराबाद में पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में बोल्ड हुए थे और इसके बाद दूसरे टेस्ट मैच में कीवी गेंदबाज टिम साउदी ने दूसरी पारी में तेंदुलकर का मिडिल स्टंप उड़ा दिया. अपनी बल्लेबाजी से दुनिया भर में लोहा मनवाने वाले तेंदुलकर की दो टेस्ट मैचों की सीरीज में शुरुआत निराशाजनक रही. हैदराबाद में जब वह 19 रन पर खेल रहे थे तब ट्रेंट बोल्ट ने उनका मिडिल स्टंप उखाड़ा और दूसरे मैच में भी सिलसिला जारी रहा.
इस टेस्ट मैच की पहली पारी में डग ब्रेसवेल ने तेंदुलकर करी रक्षा पंक्ति भेद दी. उन्होंने उनके बल्ले और पैड के बीच से गेंद निकाली. फिर दूसरी पारी में साउदी की गेंद उनके पैड से लगकर विकेटों में घुस गई. तेंदुलकर तब एक्रास द लाइन खेल रहे थे, लेकिन इससे भी उन्हें फायदा नहीं हुआ. तेंदुलकर लगातार इस तरह से आउट होने से काफी निराश दिखे.
दो दिन पहले मास्टर ब्लास्टर के सबसे बड़े प्रशंसकों में से एक लिटिल मास्टर और अपने जमाने के दिग्गज सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर को भी लगा था कि सचिन की बल्लेबाजी पर उम्र हावी होती जा रही है. गावस्कर का कहना था कि सचिन के फुटवर्क में अब पहले वाली बात नहीं रही है. गावस्कर ने कहा था, ‘उम्र बढऩे के कारण सचिन का पैर पहले की तरह गेंद तक नहीं पहुंच पा रहा है.Ó
तेंदुलकर ने अब तक 190 टेस्ट मैच में 55.08 की औसत से 15533 रन बनाए हैं. वह अब टेस्ट क्रिकेट में 51 बार बोल्ड हो चुके हैं. रिकॉर्ड राहुल द्रविड़ के नाम पर है, जो 55 बार बोल्ड हुए. उनकेबाद एलन बॉर्डर (53) का नंबर आता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.