प्यार से फरेब तक

175
love and dhokha
love and dhokha

अलीगंज में रहने वाली रश्मि शर्मा को विकासनगर के ओंकार सिंह ने प्यार का झांसा दिया. भोलीभाली रश्मि उसके झांसे में आ गई. ओंकार के चाचा-चाची के दखल के बाद आर्य समाज में उनकी शादी हो गई. पर कुछ माह बाद ही ओंकार बिजनेस का बहाना बनाकर गायब रहने लगा. दो साल तक चली कश्मकश के बाद पता चला कि ओंकार ने दूसरी शादी कर ली. खुलासा होने पर ओंकार ने दूसरी पत्नी से तलाक का फर्जी दस्तावेज दिखाकर रश्मि को शांत करा दिया. इस बीच उसे पता चला कि ओंकार घर से गायब रहकर फिर से अपनी दूसरी वाइफ से मिलने जाता है. रश्मि ने ओंकार को प्रेगनेंट होने की खबर दी तो वह भड़क उठा और उसने उसकी बेरहमी से पिटाई कर दी और उसे मायके छोड़कर फरार हो गया. अब रश्मि पुलिस थाने के चक्कर लगाकर इंसाफ की गुहार लगा रही है.

कहानी शुरू होती है 2007 में जब अलीगंज में रहने वाले रंजीत कुमार शर्मा की तीन बेटियों में सबसे बड़ी रश्मि ने रामाधीन सिंह इंटर कॉलेज में बीए करने के लिये दाखिला लिया. गाने की शौकीन रश्मि ने डंडइया बाजार के पास रहने वाले आर्केस्ट्रा पार्टी के ऑर्गनाइजर के यहां वोकल की क्लास के लिये संपर्क किया. इसी दौरान उसकी मुलाकात विकासनगर सेक्टर-8 निवासी ओंकार सिंह से हुई. दो साल तक चले इश्क के बाद ओंकार ने रश्मि के सामने शादी का प्रस्ताव रखा.
कुछ दिनों बाद ओंकार के पिता सिद्धेश्वर सिंह रिश्ता लेकर उनके घर पहुंचे और 1.70 लाख रुपये दहेज मांगा. दहेज की बात सुनते ही रंजीत ने शादी से इनकार कर दिया. रिश्ता टूटता देख ओंकार फिर सक्रिय हुआ और अपने चाचा कन्हैया और चाची शोभा को रंजीत के घर ले आया. लंबी बातचीत के बाद रंजीत शादी के लिये तैयार हो गये. इसके बाद 6 अप्रैल 2009 जानकीपुरम आर्य समाज मंदिर में उन दोनों की शादी हो गई.
रश्मि ने बताया कि शादी के बाद ओंकार ने विकासनगर में ही एक किराये का मकान लिया. शादी के एक हफ्ते बाद ही रश्मि जिद कर अपने ससुराल गई. जहां उसकी सास माया ने उन दोनों को पहचानने से इनकार कर दिया. सास के इस बर्ताव के बाद रश्मि वापस लौट आई. कुछ माह बाद ओंकार कई-कई दिन घर से गायब रहने लगा. रश्मि के मुताबिक, जब उसने पूछा तो ओंकार ने बताया कि बिजनेस के सिलसिले में उसे बाहर जाना पड़ता है. इसी दौरान 27 नवंबर 2009 को ओंकार ने बहराइच निवासी एक युवती से शादी कर ली. रश्मि को इसकी भनक न लग सकी. ओंकार का गायब रहने का सिलसिला जारी रहा.
रश्मि नवंबर 2011 में यह सुनकर भौंचक रह गई कि ओंकार ने दूसरी शादी कर ली है. उसने ओंकार से इस बारे में पूछताछ की तो वह गोल-मोल जवाब देने लगा. अप्रैल माह में आखिरकार ओंकार ने माना कि उसके फैमिली मेंबर्स ने उसकी जबरन शादी करा दी थी, लेकिन उसने एक हलफनामा देकर यह साबित किया कि शादी के दो माह बाद जनवरी 2010 में ही उनके बीच तलाक हो गया. इस बार फिर रश्मि उसके झांसे में आ गई. बीते दो सितंबर को रश्मि को एक खबर ने फिर चौंका दिया. उसे पता चला कि ओंकार की दूसरी वाइफ को बेटा हुआ है. दो साल पहले हुए तलाक के बाद यह खबर वास्तव में चौंकाने वाली थी. उसने ओंकार से इस बारे में फिर पूछा तो उसने रश्मि की पिटाई कर दी.
रश्मि के मुताबिक, सात सितंबर की रात में उसने ओंकार को बताया कि वह दो माह की प्रेगनेंट है. यह खबर सुनते ही ओंकार भड़क उठा और उसने उसे बेरहमी से पीटा. रश्मि ने बताया कि ओंकार ने उसके पेट में पैर से कई वार किये और उसका गला घोंटने की भी कोशिश की. विरोध करने पर ओंकार ने उसे जान से मारने की धमकी देते हुए कहा कि उसके पिता पुलिस में हैं इसलिये उसका कोई कुछ नहीं कर सकता. इस दौरान उसने अपनी दूसरी वाइफ के साथ रहने की बात भी कही. इसके बाद वह रश्मि को अलीगंज स्थित मायके छोड़कर फरार हो गया.
रश्मि ने बताया कि वह अपने मम्मी-पापा के साथ नौ सितंबर को विकासनगर थाने गई और पुलिस को तहरीर दी. लेकिन उसकी शिकायत पर एफआईआर दर्ज करने के बजाय पुलिस ने उसे टरका दिया. पुलिस के इस रवैये से निराश रश्मि सोमवार को एसएसपी आवास पहुंची और इंसाफ की गुहार लगाई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.