पिंपल्स से छुटकारा दिलाएंगे ये पांच योगासन

212

दिन पर दिन बढ़ती पॉल्यूशन और तरह-तरह बाहरी प्रोडक्ट को यूज करने की वजह से चेहरे पर पिंपल्स आ जाते है। पॉल्यूशन हमारे हेल्थ और स्किन दोनों के लिए खतरनाक है। जिसकी वजह से प्रॉबल्म खत्म होने के बजाए, बढ़ जाती है। मुंहासों के पीछे सिर्फ तैलीय त्वचा ही नहीं, बल्कि शरीर में मौजूद टॉक्सिन और हार्मोंस का असंतुलित होना भी एक कारण होता है।

मुंहासों से अगर लाख कोशिशों के बाद भी छुटकारा नहीं मिल पा रहा है तो इस बार कुछ अलग ट्राई कीजिए। योग में मुंहासों से निजात पाने के लिए कुछ आसन दिए गए हैं जिनका नियमित अभ्यास कर के इनसे छुटकारा पाया जा सकता है। हम आपको कुछ ऐसे ही आसन के बारे में बताने जा रहे हैं जिसको करने से आपकी सभी त्वचा संबंधी समस्याएं दूर हो जाएंगी।

* अपनी पीठ के सहारे लेटें और अपने पैरों को मोड़ते हुए सीने की तरफ लाएं। अब अपने दाएं घुटने को अपने बाएं हाथ से पकड़ें और बाएं घुटने को दाएं हाथ से। फिर अपने चेहरे को दोनों घुटनों के बीच में रखें। 3 से 5 मिनट ऐसे ही लेटें रहें। यह स्ट्रेस और डिप्रेशन कम करने में मददगार होता है।

* अपनी पीठ के बल लेट कर दोनों पैरों को दीवार के सहारे उपर उठाएं। अब हथेली को उपर रख कर दोनों हाथों को आगे की तरफ फैलाएं। आखें बंद कर के लंबी सांस लें। ऐसा 5 से 10 मिनटों के लिए करें। यह करने से चेहरे में रक्त का संचार होता है और त्वचा को रिलैक्स होने का मौका मिलता।

* इस आसन को करने के लिए पहले पद्मासन में बैठ जाएं। गहरी सांस खींचते हुए कई बार लगातार सांस छोड़ें। कपालभाति के नियमित अभ्यास से शरीर को बहुत से फायदे मिलते हैं। इससे शरीर में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन का प्रवाह होता है और पाचन ठीक रहता है। पाचन का ठीक ना रहना भी मुंहासों का कारण होता है।

* यह आसन करने के लिए दोनों पैरों के बीच में स्पेस देते हुए सीधा खड़े हो जाएं। फिर दोनों हाथों को कंधों के समानांतर उठाएं। अब दाहिने हाथ को दाहिने पैर के पंजों से छूने की कोशिश करें और फिर सीधे हो जाएं। सिर को ऊपर की ओर उठाएं। यही दोनों हाथों-पैरों के लिए दोहराएं।

* इसके लिए सीधे खड़े होकर दोनों हाथों को लंबी सांस लेते हुए ऊपर की ओर ले जाएं औप फिर सांस छोड़ते हुए नीचे जमीन की ओर ले जाएं। फिर पैरों के अंगुठे छूने की कोशिश करें। ऐसा करने से शरीर में रक्त संचार तेज होता है जिससे त्वचा निखरती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.