रचा गया इतिहास, मेदांता में हुआ मध्य प्रदेश का पहला हार्ट ट्रांसप्लांट

418

मध्य प्रदेश का पहला हार्ट ट्रांसप्लांट किया गया। ऑरगन डोनेशन के लिए इंदौर में शुक्रवार को ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया। 17 महीनों में 16वीं बार इंदौर में ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया।

एक खबर के मुताबिक, ब्रेन डेड घोषित की गई द्वारकापुरी निवासी वीणा परयानी का हार्ट शहर के ही एक निजी अस्पताल में महू के संजय अग्रवाल और लिवर उज्जैन के धर्मेंद्र जायसवाल को सफलतापूर्वक ट्रांसप्लांट किया गया। बता दें कि इंदौर देश के उन चुनिंदा 11 शहरों में भी शामिल हो गया, जहां हार्ट ट्रांसप्लांट होते हैं। अन्य शहर मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, अहमदाबाद, जयपुर, बेंगलुरू, कोच्चि, हैदराबाद और कोयम्बटूर हैं।

गुरुवार शाम वीणा को तेज ब्लड प्रेशर होने के कारण चोइथराम अस्पताल ले जाया गया था। वहां ब्रेन हेमरेज होने के बाद में डॉक्टरों ने उन्हें ब्रेन डेथ घोषित कर दिया था। सूचना मिलने पर संभागायुक्त संजय दुबे ने मुस्कान ग्रुप के जरिये वीणा के परिजन से बातचीत की और परिवार वाले अंगदान के लिए तैयार हो गए। इसके बाद हार्ट और लिवर ट्रांसप्लांट के लिए रात में मरीज की तलाश शुरू हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.