पापा… मैम से कहना किसी बच्चे को न दें इतनी बड़ी सजा

173

गोरखपुर। गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्कूल में 7 साल के प्रद्युम्न की हत्या का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ है कि कुछ इसी तरह की घटना गोरखपुर में हुर्ई है। दरअसल शाहपुर थानाक्षेत्र के मोहनापुर के रहने वाले कक्षा 5 के दलित छात्र नवनीत प्रकाश ने स्कूल से लौटने के बाद जहर खाकर मौत को गले लगा लिया है। इस घटना के बाद स्कूल प्रशासन में लगातार लापरवाहियां का सिलसिला जारी है। पूरा मामला शाहपुर थानाक्षेत्र पादरीबाजार मोहनापुर का बताया जा रहा है। खबरों की मानें तो अध्यापक रवि प्रकाश के 11 साल के पुत्र नवनीत डेयरी कालोनी स्थित सेंट एंथोनी स्कूल में कक्षा 5 में पढ़ता था।

पिता के अनुसार 15 सितंबर को उनके बेटे की परीक्षा थी। कक्षा में टीचर से किसी बात को लेकर कहा-सुनी हो गई। इसके बाद टीचर ने उसे 3 पीरियड तक लगातार खड़ा रखा। इस बात से दुखी होकर नवनीत ने घर आने के बाद जहरीला पदार्थ खा लिया। इसके बाद पिता ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया लेकिन 20 सितम्बर को उसकी मौत हो गई। मौत के बाद बेटे के बैग से एक सुसाइट नोट मिला, जिसके बाद सारा मामला प्रकाश में आया। इस बीच पिता ने शाहपुर थाने में स्कूल प्रबंधन और क्लास टीचर के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया है।पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। नवनीत के मरने के बाद उनके पिता को बेटे का सुसाइड नोट मिला जिसमें लिखा है कि पापा, ”आज 15-9-17 मेरा पहला एग्जाम था मेरी मैम क्लास टीचर ने मुझे 9:15 तक रुलाया खड़ा रखा। इसलिए क्योंकि वह चापलूसों की बात मानती है। उनकी किसी बात का विश्वास मत करिएगा। कल उन्होंने मुझे तीन पीरियड खड़ा रखा। आज मैंने सोच लिया है कि मैं मरने वाला हूं। मेरी आखिरी इच्छा मेरी मैम को किसी बच्चे को इतनी बड़ी सजा न देने को कहें अलविदा पापा-मम्पी और दीदी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.