PAK सपने देखना बंद करे, कश्मीर भारत का था, है और रहेगा: UN में सुषमा स्वराज

486

sushma-swaraj

दुनिया के सबसे बड़े मंच संयुक्त राष्ट्र से भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान को जमकर लताड़ा है। सुषमा स्वराज ने 193 देशों के सामने पाकिस्तान और नवाज शरीफ को आईना दिखाते हुए कहा कि पाकिस्तान सपने देखना बंद करे, कश्मीर भारत का था, है और रहेगा।

सुषमा ने पाक को चुनौती देते हुए कहा कि जिस देश को हर तरफ से कूटनीति के तमाचे पड़ रहे हैं, कुछ ही देर में वो पूरी तरह से बेनकाब हो जाएगा। सुषमा ने यूएन में अपने भाषण की शुरुआत मानवता, शांति और गरीबी से करते हुए पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए आतंकवाद पर उन्होंने कहा कि आतंकवादी मानवता के अपराधी हैं। सुषमा ने कहा कि आज आतंकवादी समूहों ने राक्षस का रूप धारण कर लिया है। अब मतभेद भुलाकर आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होने की जरूरत है। 21 सितंबर को पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ के भाषण पर सुषमा ने पलटवार करते हुए कहा कि जिनके घर शीशे के हों, वो दूसरे के घर पत्थर नहीं फेंकते।

कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और रहेगा
सुषमा ने कहा कि भारत से कश्मीर को कोई नहीं छीन सकता। कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और रहेगा। पाकिस्तान कश्मीर का ख्वाब देखना छोड़ दे। उन्होंने कहा कि हमें मित्रता के बदले पठानकोट मिला। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अब बदलाव होना चाहिए। इससे पहले सुषमा स्वराज ने कहा कि कुछ देशों का आतंकवाद को पनाह देना शगल बन गया है। कुछ देशों में यूएन द्वारा घोषित आतंकवादी जलसे करते हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने यहां इस मंच से हमारे देश में मानवाधिकार हनन का मुद्दा उठाया था। पर उनको पहले उनके घर में झांकना चाहिए।

पाकिस्तान पर तल्ख हमला करते हुए सुषमा ने कहा कि भारत की मित्रता और बंधुत्व का गलत फायदा उठाकर पाकिस्तान लगातार ऐसे लोगों को बढ़ावा दे रहा है जो आतंकवादी हैं और भारत की सुरक्षा और शांति को प्रभावित करने में लगे हैं। उन्होंने कहा, ‘नवाज ने मानवाधिकारों और शर्तों की बात की, नवाज बताएं कि जब पीएम मोदी ने उनसे सेहत का हाल पूछा तो कौन सी शर्त थी? पीएम मोदी ने कौन सी शर्त रखी थी जब अपने शपथग्रहण में नवाज शरीफ को बुलाया था। जब ईद की मुबारकवाद दी, जब काबुल से लौटते समय लाहौर गए थे। हमने दो साल में दोस्ती निभाई, पाकिस्तान ने दोस्ती के बदले उड़ी, पठानकोट दिया।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.