अफरीदी ने लिया इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास

94

पाकिस्तान के आक्रामक क्रिकेटर अफरीदी ने टेस्ट और वनडे क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद अब इंटरनेशनल क्रिकेट को भी अलविदा कह दिया है। 36 साल के अफरीदी का क्रिकेट करियर 21 साल का रहा।

अफरीदी टेस्ट और वनडे से पहले ही संन्यास ले चुके थे, लेकिन अभी तक उन्होंने टी-20 में खेलना जारी रखा था। अफरीदी ने अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में 27 टेस्ट मैच खेले। इनमें उन्होंने 1176 रन बनाए। उनका सबसे बड़ा स्कोर 156 रहा। अफरीदी ने 48 विकेट भी लिए।

वहीं, उन्होंने कुल 398 वनडे मैच खेले, इनमें 8,064 रन बनाए। वनडे में अफरीदी का सबसे बड़ा स्कोर 124 रन रहा। लेग स्पिन बॉलिंग करते हुए अफरीदी ने कुल 395 विकेट अपनी झोली में डाले। टी20 में अफरीदी ने कुल 98 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले, इनमें 1405 रन बनाए, इस फॉर्मेट में उन्होंने कुल 97 विकेट झटके।

1996 में अपने दूसरे ही मैच में श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने 37 गेंदों में ही शतक ठोंक दिया था। इस रिकॉर्ड को 17 साल तक कोई नहीं तोड़ सका। शाहिद अफरीदी अपने फैंस के बीच बूम-बूम के नाम से तो टीम के साथी खिलाड़ियों के बीच लाला के नाम से जाने जाते हैं।

पाकिस्तान के टी20 कप्तान अफरीदी अपनी आक्रामक बल्लेबाजी और क्रिकेट के कई वर्ल्ड रिकॉर्ड्स को ध्वस्त करने की वजह से न केवल पाकिस्तान बल्कि भारत समेत कई मुल्कों में क्रिकेट प्रेमियों के चहेते हैं। गेंदबाजों के लिए कहर बन कर पिच पर उतरने वाले अफरीदी की बल्लेबाजी पर कोई पूर्वानुमान नहीं लगाता क्योंकि वो अगर क्रीज पर टिके रह गए तो असंभव को संभव बना देते हैं।

LEAVE A REPLY