…तो प्रधानमंत्री ने सच ही कहा था

75

प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को फतेहपुर की अपनी चुनावी रैली में बिजली देने में भेदभाव वाली ऐसे ही नहीं कही है। विपक्ष या मीडिया भले ही आलोचना करे लेकिन अखिलेश सरकार ने मुरादाबाद में बिजली कनेक्‍शन देने में जमकर धार्मिक आधार पर भेदभाव किया है।

केंद्र सरकार की दीनदयाल उपाध्‍याय ग्राम ज्‍योति योजना में अखिलेश के अफसरों ने गांवों में धर्म विशेष को बिजली कनेक्‍शन दिया है। केंद्र की गांवों को रोशन करने वाली महत्‍वपूर्ण योजना को सपा सरकार ने अपना वोट बैंक बढ़ाने के लिए इस्‍तेमाल किया है।

सांसद ने की प्रधानमंत्री से शिकायत
मुरादाबाद के सांसद कुवंर सर्वेश ने दीन दयाल उपाध्‍याय ग्राम ज्‍योति योजना में भेदभाव की शिकायत प्रधानमंत्री मोदी व केन्‍द्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल से की। केंद्र सरकार की जांच में यह खुलासा हुआ कि यह केन्‍द्र की इस योजना के लाभ से हिन्‍दू आबादी वाले क्षेत्र वंचित रहे जबकि धर्म विशेष के लोगों पर अखिलेश के अफसर खासे मेहरबान रहे। वहीं दो सालों में दीन दयाल उपाध्‍याय ग्राम ज्‍योति योजना की रफ्तार थम गई।

मुरादाबाद की सभी सीटों पर हैं सपा के विधायक
गौरतलब है कि मुरादाबाद की सभी विधानसभा सीटों पर सपा के विधायक हैं। दीन दयाल उपाध्‍याय ग्राम ज्‍योति योजना के परियोजना निदेशक भी धर्म विशेष के हैं। बिजली कनेक्‍शन देने में विधायकों के प्रस्‍ताव का खास ध्‍यान रखा जाता है। सपा के वोट बैंक की खातिर अखिलेश के अफसर भी धर्म विशेष पर खासे मेहरबान नजर आते हैं।

कब्रिस्‍तान तक रोशन हो गए
मुरादाबाद में जहां हिन्‍दू आबादी वाले घरों में अंधेरा पसरा रहता है वहीं मुस्लिम इलाकों में तो कब्रिस्‍तान तक जगमगा रहे हैं। केन्‍द्र सरकार ने अपनी जांच में सांसद के आरोपों को सही पाया है। उत्‍तर प्रदेश में बिजली देने में अखिलेश सरकार ने जमकर भेदभाव किया है।

LEAVE A REPLY