उत्तर प्रदेश में परिवर्तन की आंधी है चल रही है : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

148

narendraकानपुर। उत्तर प्रदेश चुनावों के मद्देनजर सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को कानपुर में परिवर्तन रैली को संबोधित किया। उन्‍होंने कहा, ”पिछले कुछ दिनों में मुझे जहां-जहां यूपी में जाने का मौका मिला है, मैं देख रहा हूं कि परिवर्तन की आंधी है।” संसद न चलने पर भी पीएम ने विपक्ष को जिम्मेदार ठहराया। उन्‍होंने कहा, ”संसद में पहले भी रुकावटें आती थीं। पहली बार ऐसा हुआ कि सरकार बेईमानों को ठिकाने पर लगी रही और विपक्ष उन्‍हें बचाने में। भ्रष्टाचार ने मध्‍यम वर्ग का शोषण किया है, आज दिल्ली में ऐसी सरकार है जो मध्यम वर्ग को राहत देना चाहती है। जिनको आदत बेईमानी की लगी है, उनसे अब देश ज्यादा अपेक्षा नहीं रखता। लोकतंत्र में हमारी जिम्मेदारी है कि हम जनता को ईमानदारी का पाठ पढ़ाएं। हम संसद में खुलकर चर्चा करें, पॉलिटिकल पार्टी को चंदा कैसे मिलना चाहिए, चंदे का हिसाब कैसे होना चाहिए। हम मिलकर के एक रास्ता खोज सकते हैं। यह बात मैंने ऑल पार्टी मीटिंग में कही थी।”
काले धन के खिलाफ लड़ाई में हम सिपाही बनकर देश के उज्जवल भविष्य के लिए काम करें
पीएम ने नोटबंदी के मुद्दे पर भी देशवासियों को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, ”काले धन के खिलाफ लड़ाई में हम सिपाही बनकर देश के उज्जवल भविष्य के लिए काम करें। 8 नवंबर को हमने नोटबंदी का निर्णय किया। आप जानते हैं कि कैसे-कैसे लोगों के पसीने छूट गए। कल मैंने देखा कि कांग्रेस के नेता हमें बदनाम करने के लिए उछल पड़े थे। जब सीताराम केसरी कांग्रेस के काेषाध्यक्ष हुआ करते थे तो कांग्रेस के लोग बोलते थे- न खाता न बही, जो केसरी कहे वही सही। ये सरकार ईमानदारी की सरकार है, ईमानदारों के कारण ये सरकार है। अब हम टेक्नोलॉजी से ढूंढ रहे हैं कि रुपया कहां से आया। आपने देखा होगा कि दनादन रुपए पकड़े जा रहे हैं।पीएम ने कहा, ”ये बात मैं भीलीभांति जानता हूं कि इतना बड़ा देश और इतना बड़ा निर्णय, लोगों को क्या कुछ सहना पड़ा है, इसका मुझे पूरा अंदाज है। देशवासियों ने जो कुछ भी सहा है, देश के उज्जवल भविष्य के लिए सहा है। लेकिन आपने जो कष्ट झेला है वह अपने स्वार्थ के लिए नहीं झेला, देश की भलाई के लिए झेला है। मैं जरा विरोधियों से कुछ सवाल पूछना चाहता हूं। वो कहते हैं कि लोगों का बैंक में खाता ही नहीं है, फिर कहते हो कि बैंक जाओ तो पैसा नहीं मिलता। अरे एक चीज पर टिको, जनता को गुमराह मत करो। चाय पीकर के मोबाइल से पैसे दिया जा सकते हैं। जब मैं ये बताता हूं तो ये (विपक्ष) कहते हैं कि देश में लोगों के पास कहां मोबाइल फोन है। यही लोग कहते हैं कि राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे तो मोबाइल क्रांति लेकर आए। अब मैं कहता हूंं कि मोबाइल को बैंक बना लो तो कहते हैं कि मोबाइल हैं ही कहां। ये लोगों को गुमराह करने का काम करते हैं।”
25 दिसंबर को क्रिसमस गिफ्ट दूंगा
पीएम ने नई योजना के बारे में बताते हुए कहा, ”मैं एक योजना आपको बताता हूं। भारत सरकार ने ऑनलाइन पेमेंट के लिए एक बहुत बड़ी योजना बनाई है। 25 दिसंबर को क्रिसमस गिफ्ट की तरह होगा। 8 नवंबर से अब तक अगर आपने अपने डेबिट कार्ड से, मोबाइल वॉलेट से कोई खरीदारी की होगी तो उसका एक नंबर जनरेट होगा, इन सारे नंबरों का 25 तारीख को एक ड्रॉ निकलेगा। 15 हजार लोग, जिनका नंबर लगेगा, उनके खाते में 15 हजार रुनए जमा हो जाएंगे। यह योजना 100 दिन तक चलेगी। 30 दिसंबर को एक बड़ा लकी ड्रॉ होगा, जिसमें लाखों रुपए के ईनाम दिए जाएंगे। 14 अप्रैल को 1 करोड़ रुपए का लकी ड्रॉ होगा। जो दुकानदार मोबाइल फोन से माल बेचता है, कार्ड से पेमेंट लेता है, उसका भी ड्रॉ होगा और हर सप्ताह उसे हजारों रुपए के ईनाम दिए जाएंगे।” पीएम मोदी ने कहा कि इस बार मैंने कहा था कि संसद में खुलकर चर्चा हो कि राजनीतिक दलों को चंदा कैसे मिलना चाहिए? मैंने आग्रह किया था कि सदन में इसकी चर्चा होनी चाहिए। मैंने कहा था कि देश में विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव अलग अलग होते हैँ, ऐसे में देश पर बहुत बड़ा बोझ पड़ता है। कालेधन को भी बढ़ावा मिलता है।
आज 35 लाख परिवारों में गैस का कनेक्शन पहुंच गया है
उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों ने सोचा ही नहीं था कभी कि उनके यहां गैस सिलेंडर होगा, हमने पीड़ा उठाया है कि गरीब परिवारों के घरों में गैस सिलेंडर होगा। आज 35 लाख परिवारों में गैस का कनेक्शन पहुंच गया है। पीएम मोदी ने कहा कि गन्ना किसानों की 20-22 हजार करोड़ की भुगतान राशि सरकार ने दी है। हमने यूरिया का नीमकोट कराके यूरिया का इस्तेमाल केवल खेतों तक रोक दिया है। पहले कई बच्चों को यूरिया वाला दूध पिलाया जाता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here