मनमोहन ने खोली जुबान, क्यों किया गया मेरा जीना हराम

40

2 जी स्पेक्ट्रम घोटाला पर अदालत के फैसले पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने गुरुवार को कहा कि संप्रग के खिलाफ 2 जी स्पेक्ट्रम को लेकर किए गए व्यापक दुष्प्रचार का कोई आधार नहीं था। गौरतलब है कि एक विशेष अदालत ने 2 जी स्पेक्ट्रम घोटाला मामले में गुरुवार को सभी आरोपियों को बरी कर दिया। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि इस फैसले से ही सब कुछ पता चल जाता है। उन्होंने कहा, “मैं कुछ नहीं कहना चाहता। अदालत के फैसले का सम्मान किया जाना चाहिए। मैं खुश हूं कि अदालत ने स्पष्ट रूप से फैसला दे दिया। संप्रग के खिलाफ किया जा रहा व्यापक दुष्प्रचार बेबुनियाद था। फैसले से सब कुछ पता चल जाता है।’’
विशेष अदालत ने 2 जी स्पेक्ट्रम मामले में पूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा और द्रमुक की राज्यसभा सदस्य कनिमोई को गुरुवार को बरी कर दिया। इस मामले में 15 अन्य आरोपी और तीन कंपनियों को भी बरी किया गया है। वहीं, आम आदमी पार्टी के नेता आशोतुष ने केन्द्र सरकार पर आरोप लगाया कि बीजेपी ने डीएमके से डील कर ली है। आशुतोष ने लिखा, “पिछले साढ़े तीन सालों में एजेंसियां मोदी सरकार के अंडर में काम कर रही हैं। सीबीआई ने 2G की ठीक से जांच क्यों नहीं की? सबूत क्यों नहीं जुटाए?”

कोर्ट ने पूर्व मंत्री राजा और DMK सांसद कनिमोझी समेत सभी आरोपियों को बरी किया
बता दें कि द्रमुक के कार्यवाहक अध्यक्ष एम. के. स्टालिन ने 2जी स्पेक्ट्रम मामले में उनकी पार्टी के नेताओं ए. राजा और कनीमोई को बरी करने के अदालत के फैसले को ऐतिहासिक बताया। अपनी बहन कनीमोई और पूर्व दूरसंचार मंत्री ए. राजा सहित सभी आरोपियों के बरी होने पर प्रसन्नता जताते हुए स्टालिन ने आरोप लगाया कि यह एक राजनीतिक दल का अपमान करने और उसे खत्म करने की सोची-समझी योजना थी। इस संदर्भ में वह अपनी पार्टी द्रमुक का हवाला दे रहे थे।

LEAVE A REPLY