सर्व सम्मति से बन सकता है राम मंदिर: अमित शाह

123

amit-shahलखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि राममंदिर सर्व सम्मति से बन सकता है। भाजपा राममंदिर पर कभी पीछे नहीं हटी। उन्होंने आगे कहा कि चुनाव के वक्त ही ये सुनिश्चित हो कि इस देश की राजनीति परिवारवाद पर न चले बल्कि परफार्मेंस पर चले। उन्होंने कहा कि भाजपा ने इस देश में परफार्मेंस की राजनीति शुरू की। एक-एक कर देश के राज्यों में भाजपा की सरकारें बन रही हैं। इस देश में अब इस पर विचार करने का समय आ गया है। उत्तर प्रदेश में भाजपा के सीएम के चेहरे बाबत उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र है। भाजपा के संगठन पर जनता भरोसा करे। हर प्रदेश को भाजपा ने आगे बढ़ाया है। उप्र में तेज दिमाग वाला युवा है। समय आने पर इस पर फैसला हो जाएगा।

अमित शाह शनिवार को लखनऊ में हिन्दुस्तान शिखर समागम 2016 में कार्यक्रम में शामिल होने लखनऊ आए थे। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि यहाँ हम परफार्मेंस की राजनीति करना चाहते हैं। युवाओं को सकारात्मक सोच देना चाहते हैं। उसे नौकरी देकर मुख्य धारा से जोडऩा चाहते हैं। भाजपा की सरकार किसानों के लिए काम करना चाहती है। यहां प्रयोग लैब तक सीमित है। हम उसे लैब से लैंड तक ले जाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के किसानों को फायदा नहीं मिल रहा है। भाजपा की सरकार ने सबसे अच्छी कानून व्यवस्था दी। रोजगार के लिए काम कर रही है। दिल् ली से चलकर योजना लखनऊ तक पहुंचती है लेकिन कागजों में उलझ कर रह जाती है। देश का विकास उप्र पर निर्भर है। देश के प्रधानमंत्री ने स्वच्छता को अपना मुद्दा बनाया। भारत के भविष्य की बात नहीं हो रही थी। देश का सैनिक असहाय महसूस कर रहा था। देश के लोगों को नरेंद्र मोदी के नेतृत्व पर भरोसा है। हमने सीमाओं पर सुरक्षा
को सुनिश्चित किया है। सर्जिकल स्ट्राइक इसका उदाहरण है। आज विदेश नीति और रक्षा नीति में मतभेद नहीं है।
अमित शाह ने कहा कि किसी महिला को कोई फोन पर शादी तोडऩे का फैसला न सुनाये। महिलाओं के सवाल पर अमित शाह ने कहा कि भाजपा कानून के साथ ही महिलाओं की सुरक्षा पर काम करेगी। तीन तलाक के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि ये मामला अब राष्ट्रीय मुद्दा बन चुका है। आप चाणक्य की नीति पर यकीन करते हैं साम-दाम-दंड भेद। इस सवाल पर उन्होंने कहा कि हमें बस अपनी पार्टी संभालनी चाहिए। शाह ने कहा कि राम मंदिर सर्वसम्मति से बन सकता है।
अमित शाह ने कहा कि नोटों की समस्याओं से ध्यान हटाने के लिए नमक की अफवाह उड़ाई गयी। अफ वाहें फैलनी नहीं चाहिए। सभी अपने नोट बैंक में दे सकते हैं। किसी को कोई दिक्कत नहीं होगी।
नोट पर बैन जैसे फैसले गोपनीय न रखे जाते तो फैसले का मतलब न रह जाता। इस फैसले से नक्सली काला धन और हवाला का धंधा करने वाले लोगों पर असर पड़ा है। अफवाहें फैलाई जा रही हैं कि छोटे व्यापारी का क्या होगा लेकिन मैं बता रहा हूं ढाई लाख तक रुपया जमा करने में कोई दिक्कत नहीं होगी।
सत्ता जनता के लिए होनी चाहिए। परिवार के लिए नहीं। मैं मानता हूँ कि भाजपा अच्छा कानून लायेगी। हम परफार्मेंस पॉलिटिक्स पर काम करेंगे।
37 फीसदी उत्पादन बढ़ा है। हमने दलालों पर शिकंजा कसा है। फर्जी करेंसी हटने के बाद महंगाई कम होगी।

LEAVE A REPLY