सरोजनीनगर में एक नाम के कई प्रत्याशी

106

लखनऊ के सरोजनीनगर प्रथम वार्ड में इन दिनों सभासदी के चुनाव के लिए महिलाओं के बीच घमासान मची हुई है। मगर इस लड़ाई में स्थानीय जनता चक्कर में पड़ गई है। इस वार्ड की खासियत यह है कि इस वार्ड में एक ही नाम की कई महिला उम्मीदवार चुनाव में उतरी हैं। यहां पर कई रेखा हैं तो कई सुशीला। यह हाल केवल सरोजनीनगर वार्ड का नहीं है बल्कि शहर के कई वार्ड हैं जहां पर एक ही नाम की कई महिला उम्मीदवार हैं जिनके बीच जमकर जंग छिड़ी हुई है। एक ही नाम कई उम्मीदवारों का उसी वार्ड से खड़े होने पर चुनाव में खड़ी महिला प्रत्याशियों के सामने खड़ी हो गई है मुसीबत। लोगों को अपना नाम और चुनाव चिन्ह याद दिलाने के लिए उन्हें खूब मशक्कत करनी पड़ रही है।
सरोजनीगर वार्ड प्रथम से गीता देवी भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार हैं, तो वहीं गीता वर्मा निर्दलीय उम्मीदवार हैं। इसी तरह से इसी वार्ड से तीन रेखा हैं जो चुनाव लड़ रही हैं। इसमें पहली रेखा निर्दलीय उम्मीदवार है। जिन्हें उनके चुनाव चिन्ह ‘आम’ से पहचाना जा रहा है तो वहीं निर्दलीय उम्मीदवार दूसरी रेखा वर्मा जिन्हें उनके चुनाव चिन्ह ‘उगता सूरज’ से पहचाना जा रहा है। इसी तरह से तीसरी रेखा यादव हैं जिन्हें उनके चुनाव चिन्ह ‘ताला चाबी’ से पहचाना जा रहा है। इसी वार्ड की निर्दलीय उम्मीदवार सीमा पाल और सीमा लोधी के बीच भी खूब ठनी हुई है। सीमा पाल का चुनाव चिन्ह ‘इमली’ है तो वहीं सीमा लोधी को उनके चुनाव चिन्ह ‘धनुष’ से पहचाना जा रहा है।  इसी वार्ड में निर्दलीय उम्मीदवार सुशीला को ‘छाता’ से तो दूसरी सुशीला को ‘अनाज ओसाता हुआ किसान’ वाले चुनाव चिन्ह से पहचाना जा रहा है। रेखा, सीमा और गीता के चक्कर में सरोजनीनगर प्रथम के लोग फंसे हुए हैं। उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि वह किस रेखा, गीता और सीमा को वोट दें। अगर बात करें फैजुल्लागंज वार्ड द्वितीय की तो यहां पर नीलम गौतम और नीलम सिंह के बीच द्वंद्व चल रहा है। नीलम गौतम को उनके चुनाव चिन्ह ‘उगते हुए सूरज’ से पहचाना जा रहा है तो दूसरी नीलम सिंह को उनके चुनाव निशान ‘झोपड़ी’ से पहचाना जा रहा है। लाला लाजपतराय वार्ड की ममता मौर्या को ‘गुलाब का फूल’ और ममता निषाद को उनके चुनाव निशान ‘त्रिशुल’ के जरिए लोग पहचान रहे हैं। जनता नाम के ही हेर फेर में पड़ी हुई है और प्रत्याशी लोगों को अपना नाम याद कराने में जुटी है।

LEAVE A REPLY