श्रीमतियों की जंग कुंवारियों से

153

एक तरफ  पार्षद के चुनाव में भाभियां जलवे बिखेर रही हैं तो वहीं चुनाव लडऩे के लिए मैदान में खड़ी हुई कुंवारियों के भी जलवे कम नहीं हैं। शहर के कई वार्ड में कुंवारी लड़कियां पार्षद के चुनावी दंगल में अपना दम खम दिखा रही हैं। अगर हम राम मोहन राय 29 वार्ड की बात करें तो यहां से कुमारी दीप्ती सिंह, कुमारी अनीश सिद्दीकी का मुकाबला वहां की श्रीमतियों से हैं। यह कुंवारी वहां की भाभियों पर भारी पड़ रही हैं। भाभियों का चुनाव प्रचार में उनके पति जुटें हैं तो वहीं इन लड़कियों के चुनाव प्रचार में पिता साथ दे रहे हैं। कुमारी अनीश सिद्दीकी राम मोहनराय 29 से निर्दलीय उम्मीदवार हैं। इसी तरह से कुमारी दीप्ति सिंह भी उसी वार्ड से निर्दलीय उम्मीदवार हैं। इन दोनों की टक्कर उसी वार्ड की भाभी इन्द्र प्रभा शुक्ला उर्फ इन्दु प्रभा शुक्ला से है जो भाजपा की हैं। इसके अलावा श्रीमती उर्मिला कश्यप, श्रीमती जनक दुलारी कश्यप से है जो निर्दलीय उम्मीदवार हैं। इसी तरह कुमारी गोलागंज पीर जलील वार्ड संख्या 46 से नाजुक जहां भाराकां की तरफ से खड़ी हुई हैं। इसी वार्ड से कुमारी शबनम जो निर्दलीय उम्मीदवार हैं वह भी मैदान-ए-जंग में शामिल हैं। यह दोनों लड़कियां अपने वार्ड की श्रीमतियों को कांटे की टक्कर दे रही हैं। इनकी भिड़ंत उसी वार्ड की उम्मीदवार अंजुम हलीम, डॉ. खुर्शीद जहां, तहसीन बानो, सानिया रिजवान से चल रही है।

नगर निगम वार्डो के पार्षदों के चुनाव में प्रत्याशियों ने अपनी ताकत झोंकनी शुरू कर दी है। हर प्रत्याशी अपने-अपने अंदाज में मतदाताओं को लुभाने में लगा है। कोई अपने क्षेत्रीय विकास के दावों पर चुनाव में जीत दर्ज करवाना चाहता है तो कोई अपने को आजमाने की गुजारिश कर वोट की अपील कर रहा है।
अयोध्या दास वार्ड में भाजपा की प्रत्याशी ज्योति निशाद गुरुवार की सुबह से ही क्षेत्र में सक्रिय हो गई। घर-घर जाकर उन्होंने भाजपा के चुनाव चिन्ह कमल के फूल को चुनने की अपील की। कांगे्रस पार्टी के प्रत्याशी नाजिया भी क्षेत्र जनसम्पर्क अभियान चलाती नजर आई। पीस पार्टी की प्रत्याशी नसीमा खान, क्रांति दल की रेखा निषाद ने भी उन्हें वोट देने की अपील की। निर्दलीय प्रत्याशी अनीता साहू, आरफा, आसिफा, इला शुक्ला, नूतन नंदनी, मधुबाला, लक्ष्मी सिंह, शबनम, शमशुन निशा, स्नेह लता मौर्य व ज्ञानवती आदि ने भी गली-मोहल्लों में वोट मांगे। इधर फैजुल्लागंज प्रथम वार्ड के केशव नगर मोहल्ले में यहां की निर्दलीय प्रत्याशी उषा रानी तिवारी दर्जनों समर्थनों के साथ पहुंचीं और घर-घर का दरवाजा खटका कर अपने पक्ष में मतदान की अपील की। कुंज बिहारी वार्ड की भाजपा प्रत्याशी सरिता मिश्र ने भीम नगर में जनसम्पर्क अभियान चलाया। इसी तरह डालीगंज वार्ड में भाजपा के पार्षद प्रत्याशी कमता प्रसाद जायसवाल व कांगे्रस के सुफियान मोहम्मद व अन्य निर्दलीय प्रत्याशियों ने डालीगंज बाजार में जनसम्पर्क अभियान चलाया।

भाजपा के लिए नगर निगम का चुनाव सिर दर्द साबित हो रहा है। पार्षदी के टिकट वितरण का सिर फुटौव्वल पार्टी कार्यालय से निकल चुनावी मैदान तक पहुंच गया है। नामांकन के बाद बागी और पार्टी प्रत्याशी अपने-अपने वार्डों चुनाव प्रचार में कूद पड़े हंै। प्रचार के दौरान कई वार्डों में प्रत्याशियों और बागी समर्थकों को जुटाने में जुट गए है। वहीं बागियों को मनाने की कोशिशें भी तेज हो गई हंै। पार्टी नेतृत्व भी बागियों की मान-मनौव्वल में लग गया है। हालांकि नामांकन वापसी के बाद वार्डों में स्थिति साफ होगी।
नगर निगम के पार्षद पद के चुनाव में भाजपा की राह आसान नहीं है। कई वार्डों पर टिकट कटने से कई बागी चुनाव मैदान में कूद पड़े हंै। फैजुल्लागंज प्रथम, भारतेंदु हरिश्चंद्र, अयोध्यादास, रानी लक्ष्मी बाई, त्रिवेणी नगर समेत कई वार्डों में बागी चुनाव मैदान में कूद चुके हंै। भारतेंदु हरिश्चंद्र से सीटिंग पार्षद और फैजुल्लागंज प्रथम से सीटिंग पार्षद की पत्नी का टिकट काटे जाने की नाराजगी पार्टी को झेलनी पड़ रही है। भारतेंदु हरिश्चंद्र वार्ड सामान्य होने के बाद भाजपा ने यहां की निवर्तमान पार्षद रही रेखा यादव का टिकट काट ब्रज किशोर पांडे को प्रत्याशी बनाया है। रेखा यादव पार्टी से बगावत कर निर्दलीय के रूप में चुनाव मैदान में कूद पड़ी हंै। फैजुल्लागंज प्रथम से निवर्तमान पार्षद संजीव लोधी की पत्नी ममता वर्मा और सरोज शुक्ला बगावत कर चुनाव मैदान में है। पार्टी ने सुमन को प्रत्याशी बनाया है। त्रिवेणी नगर वार्ड में पार्टी ने निवर्तमान पार्षद देव शर्मा मिश्रा उर्फ मुन्ना मिश्रा की पत्नी अनुराधा का टिकट काट निशी मिश्रा को दे दिया था। अंतिम दिन पार्टी ने मुन्ना मिश्रा की पत्नी को सिम्बल दे दिया। अब ऐसे में निशी मिश्रा बागी बन उन्हें चुनौती दे रही हंै। अमीनाबाद रानी लक्ष्मी बाई वार्ड से पार्टी ने इस बार पूर्व पार्षद सुषमा सोनकर के बेटे अभिषेक सोनकर उर्फ मोंटू को टिकट दिया। इस सीट से पुष्पेंद्र सोनकर और दीपक श्रीवास्तव ने दावा ठोका था। टिकट कट जाने से नाराज पुष्पेंद्र सोनकर नामांकन दाखिल कर चुनाव मैदान में कूद पड़े हंै। बहरहाल पार्टी बागियों को मनाने में जुटी है। नामांकन वापसी के बाद वार्ड की तस्वीर साफ होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here