तो 15 अगस्त हमारा राष्टरीय पर्व नहीं

1029

Aishwarya Parashar RTIवाह रे हमारे नेता। लाल किले पर 15 अगस्त व 26 जनवरी को झंडा फहराते छह दशक से भी ज्यादा हो गए पर सरकार इन दिनों को राष्टरीय पर्व नहीं मानती। हम बचपन से पढ़ते आए हैं कि स्वतंत्रता दिवस, गांधी जयन्ती और गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय पर्व हैं। खुद सरकार ने सूचना का अधिकार (आरटीआई) कानून के तहत मांगी गई जानकारी में कहा है स्वतंत्रता दिवस, गांधी जयन्ती और गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय पर्व नहीं है। लखनऊ की एक स्टूडेंट ऐश्वर्या पाराशर ने 25 अप्रैल को आरटीआई अर्जी भेजकर प्रधानमंत्री कार्यालय से 15 अगस्त, दो अक्टूबर और 26 जनवरी को राष्ट्रीय पर्व घोषित किए जाने से सम्बंधित आदेश की सत्यापित प्रति मांगी थी।

17 मई को गृह मंत्रालय द्वारा भेजे गए जवाब में 15 अगस्त, दो अक्टूबर और 26 जनवरी को राष्ट्रीय पर्व घोषित किए जाने सम्बन्धी आदेश के बारे में साफ कहा गया, इस तरह का कोई आदेश जारी नहीं किया गया है।

ऐश्वर्या के मुताबिक उन्होंने 31 जुलाई को राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को लिखे लेटर लिखा। इसमें उन्होंने लिखा कि शायद गृह मंत्रालय से आरटीआई अर्जी का जवाब देने में कुछ गलती हो गई है। ऐश्वर्या ने बताया कि उन्होंने मुखर्जी को लिखे लेटर में कहा है कि राष्ट्रीय अभिलेखागार ने 23 जुलाई को भेजे गए जवाब में जानकारी दी है कि उनके पास 15 अगस्त, दो अक्टूबर और 26 जनवरी को राष्ट्रीय पर्व घोषित किए जाने संबंधी कुछ फाइलें तो हैं लेकिन कोई सरकारी आदेश उनके पास भी नहीं है।

ऐश्वर्या ने राष्ट्रपति से 15 अगस्त, दो अक्टूबर और 26 जनवरी को राष्ट्रीय पर्व घोषित करने संबंधी सरकारी आदेश जारी करने का अनुरोध किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here