निर्मल बाबा पर नहीं बनता अपराध का मामला

104
Nirmal-baba
Nirmal-baba

निर्मल बाबा के खिलाफ दायर याचिका पर तीसहजारी कोर्ट में अपना जवाब दाखिल करते हुए दिल्ली पुलिस ने कहा कि जांच के अनुसार निर्मल बाबा पर कोई संज्ञेय आपराधिक मामला नहीं बनता. महानगर दंडाधिकारी अपर्णा स्वामी के समक्ष सोमवार को पुलिस ने अपनी एक्शन टेकेन रिपोर्ट दाखिल की. संज्ञेय अपराध वह होता है, जिसमें पुलिस एफआइआर दर्ज करती है और उसे बिना कोर्ट के वारंट के आरोपी को गिरफ्तार करने का अधिकार होता है.

पुलिस ने अदालत को बताया कि उन्होंने अभियोजन विभाग से कानूनी राय मांगी थी. चूंकि निर्मल बाबा का कार्यालय दक्षिण दिल्ली के कालकाजी इलाके में है, इसलिए उन्होंने बाबा के खिलाफ शिकायत को दक्षिणी-पूर्व जिला के एडिशनल सीपी को भेज दी है. इसके अलावा संबंधित थाना की पुलिस को मामले में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने को भी कहा है. मालूम हो कि प्रेम शंकर शर्मा नामक एक अधिवक्ता ने अदालत में निर्मल बाबा के खिलाफ एक याचिका दायर की थी. याचिका में शर्मा का कहना था कि निर्मल बाबा विभिन्न प्रकार के भ्रमित करने वाले विज्ञापनों के माध्यम से खुद को चमत्कारिक बताकर लोगों की धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं. उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाए.

निर्मल बाबा पर नहीं बनता अपराध का मामला
निर्मल बाबा के खिलाफ दायर याचिका पर तीसहजारी कोर्ट में अपना जवाब दाखिल करते हुए दिल्ली पुलिस ने कहा कि जांच के अनुसार निर्मल बाबा पर कोई संज्ञेय आपराधिक मामला नहीं बनता. महानगर दंडाधिकारी अपर्णा स्वामी के समक्ष सोमवार को पुलिस ने अपनी एक्शन टेकेन रिपोर्ट दाखिल की. संज्ञेय अपराध वह होता है, जिसमें पुलिस एफआइआर दर्ज करती है और उसे बिना कोर्ट के वारंट के आरोपी को गिरफ्तार करने का अधिकार होता है.
पुलिस ने अदालत को बताया कि उन्होंने अभियोजन विभाग से कानूनी राय मांगी थी. चूंकि निर्मल बाबा का कार्यालय दक्षिण दिल्ली के कालकाजी इलाके में है, इसलिए उन्होंने बाबा के खिलाफ शिकायत को दक्षिणी-पूर्व जिला के एडिशनल सीपी को भेज दी है. इसके अलावा संबंधित थाना की पुलिस को मामले में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने को भी कहा है. मालूम हो कि प्रेम शंकर शर्मा नामक एक अधिवक्ता ने अदालत में निर्मल बाबा के खिलाफ एक याचिका दायर की थी. याचिका में शर्मा का कहना था कि निर्मल बाबा विभिन्न प्रकार के भ्रमित करने वाले विज्ञापनों के माध्यम से खुद को चमत्कारिक बताकर लोगों की धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं. उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here