अब मुलायम भी विपक्षी

94

Mulayam-Singh-Yadav
Mulayam-Singh-Yadav
केन्द्र की यूपीए सरकार के लिए कई बार तारणहार साबित होने के बाद सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने काग्रेस से किनारा करने और विपक्ष में बैठने का निर्णय लिया है. देश की राजनीतिक हवा का रुख भांपते हुए समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने केंद्र सरकार को दिशाहीन करार देते हुए एलान किया है कि उनकी पार्टी अब विपक्ष में है. बुधवार से शुरू होने वाली पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक की पूर्व संध्या पर किए गए इस एलान के अपने राजनीतिक अर्थ हैं. माना जा रहा है कि बैठक में पारित होने वाले पार्टी के राजनीतिक प्रस्ताव में केंद्र के खिलाफ एलान-ए-जंग होगा. विदित हो कि सपा केंद्र की मनमोहन सरकार का बाहर से समर्थन कर रही है और वह ऐसा करने वाली सबसे बड़ी पार्टी है|

मुलायम ने कहा है कि पार्टी अब सशक्त विपक्ष की भूमिका निभाएगी. उनके अनुसार केंद्र सरकार में इतने घोटाले हो रहे हैं और इतना भ्रष्टाचार बढ़ गया है कि हम सोच भी नहीं सकते. हम व्यक्तिगत तौर पर किसी के खिलाफ नहीं हैं लेकिन घोटालों का साथ नहीं दे सकते. हम सिद्धांतों के साथ हैं. इससे पहले मुलायम ने पार्टीजनों से कहा कि कोयले का घोटाला कहां जाकर रुकेगा, देखिए. बहुत भ्रष्टाचार है. केंद्र की कोई स्पष्ट नीति नहीं है, हम समझ नहीं पा रहे कि वे (संप्रग सरकार) देश को कहां ले जाना चाह रहे हैं. कोई कुछ नहीं कह रहा, हम सुन रहे हैं, हम सरकार के संपर्क में हैं, उसकी कोई दिशा नहीं है|

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के प्रति सम्मान प्रदर्शित करते हुए मुलायम ने कहा, ‘वह परिश्रमी और संघर्षशील हैं लेकिन थोड़ी हठी हैं. उनके भीतर तमाम गुण हैं, जिनके चलते आज वह मुख्यमंत्री बनी हुई हैं. मैं उनका सम्मान करता हूं और हमने कई बार बातचीत भी की है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here