लखनऊ: हाई कोर्ट की नई बिल्डिंग में चार अक्टूबर से शुरू होगा कामकाज

84

lucknow-high-court

प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हाई कोर्ट के नई बिल्डिंग जो गोमतीनगर में बन रही थी। अब वह पूरी तरह से कंप्लीट हो गई है, और अगले महिने चार अक्टूबर से इस नई बिल्डिंग में न्यायिक काम की शुरूवात हो जायेंगी। इस बात की जानकारी हाई कोर्ट के सीनियर रजिस्ट्रार राजेंद्र सिहं ने बताई है।

इस नई बिल्डिंग में मंगलवार को राज्यपाल राम नाईक ने झंडा रोहण करेंगे। और झंडा रोहण के दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ मुख्य न्यायाधीश दिलीप बाबा साहेब भोसले और हाई कोर्ट के अन्य न्याययधीश भी होंगे।

इस नई बिल्डिंग की उदघाटन 19  मार्च को सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर ने ही कर दिया था। रजिस्टार राजेंद्र सिंह ने कहा कि पुरानी बिल्डिंग भी हाई कोर्ट के पास ही रहेगा।

नई हाई कोर्ट में 57 कोर्ट रूम  

इस नई बिल्डिंग के हाई कोर्ट में 57 कोर्ट रूम बने हुये है। और जजों के लिए 69 चैंबर बने है। इस नये हाई कोर्ट के नयी बिल्डिंग चार तलें तक बनी हुई है। पहले तल पर 17 और दूसरे व तीसरे तल पर 20-20 कोर्ट बने हुये है। और इसी तरह से 55 चैंबर सिटिंग जजों के लिए, 10 बाहर से आये जजों के लिए और 4 चैंबर अतिरिक्त बनाए गए है।

तीन जोनें बनी हुई है

इस नई बिल्डिंग में तीन जोन का विभाजन किया गया है। पहली जोन में कोर्ट रूम के साथ जजों के भी चैंबर है। दूसरी जोन में दो ब्लाक हैं जिनमे से एक रिट सेक्शन और दूसरे में वकीलों के दफतर होंगे। और तीसरी जोन में वकीलों के चैंबर के साथ बार एसोसियशन के दफतर व कैंटीन, बैंक भी होंगे। जिसका ठेका आइआरसीटीसी को दिया गया है।

LEAVE A REPLY