संघ प्रचारक पर मुकदमे से बौखलाए हिंदू संगठन, सीओ को पीटा, इंस्‍पेक्‍टर की पिस्‍टल भी लूटी

52

आगरा। संघ प्रचारक समेत नौ लोगों पर डकैती का मुकदमा दर्ज होने से लेकर शनिवार को हिंदू संगठनों और भाजपाइयों ने आपा खो दिया। पुलिस की कार्रवाई से नाराज कार्यकर्ता छह घंटे तक फतेहपुर सीकरी थाने में हंगामा करते रहे। नाराज कार्यकता यहीं नहीं थमे उन्‍होंने सीओ के थप्पड़ तक जड़ दिया और थाने पर पथराव भी किया। आरोपियों को छुड़ाने के लिए हवालात का ताला तोड़ने की कोशिश भी की और नाकाम रहने पर दारोगा की पिस्टल लूट उसकी बाइक में आग लगा दी।

इंस्पेक्टर को निलंबित करने की मांग कर रहे थे कार्यकर्ता

फतेहपुर सीकरी निवासी मुवीन और रिजवान के साथ शुक्रवार को कुछ लोगों ने मारपीट कर दी थी। मुवीन के परिजनों की तहरीर पर संघ प्रचारक विक्रांत फौजदार, सागर, ओमी समेत नौ लोगों के खिलाफ डकैती और जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज हो गया था। शनिवार सुबह 11 बजे बजरंग दल पदाधिकारी भीड़ लेकर सीकरी थाने पहुंचे। संघ प्रचारक के खिलाफ मुकदमा खत्म करने और इंस्पेक्टर को निलंबित करने की मांग को लेकर शाम तक अधिकारियों से तकरार होती रही। शाम करीब पांच बजे किसी ने सीओ अछनेरा रविकांत पाराशर के गाल पर थप्पड़ जड़ दिया।

ये देखते ही सिपाहियों ने भीड़ पर लाठीचार्ज कर दिया। जो हाथ लगा उसे दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। थाने के बाहर आते ही भीड़ ने पथराव कर दिया। पुलिस ने भी जवाबी पथराव किया। पुलिस ने जगमोहन चाहर, सागर चौधरी, उदयवीर सिंह, हेमेंद्र तिवारी और ओमी को गिरफ्तार कर सदर थाने लाकर बंद कर दिया। इसकी जानकारी होते ही शाम करीब 7.30 बजे भाजपा और हिंदू संगठनों के पदाधिकारी सैकड़ों की संख्या में सदर थाने आ धमके। विधायक चौ. उदयभान सिंह भी साथ थे, लेकिन कुछ देर बाद वे चले गए।

पुलिस को करना पड़ा लाठीचार्ज, इंस्‍पेक्‍टर की पिस्‍टल लूटी

पुलिस से जद्दोजहद चलती रही, रात करीब 10.30 बजे कार्यकर्ताओं ने हवालात का ताला तोड़कर आरोपियों को छुड़ाने की कोशिश की। रोकने पर एसपी सिटी सुशील घुले से धक्का-मुक्की कर दी। पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को थाने से खदेड़ दिया। यहां से भागे हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं की भीड़ ने प्रतापपुरा चौराहे से गुजर रहे चौकी प्रभारी केदारनगर संतोष कुमार को रोक लिया। वह ड्यूटी खत्म कर घर लौट रहे थे। भीड़ ने उनकी सर्विस पिस्टल लूट ली।

LEAVE A REPLY