कलस्‍टर मैनेजर को क्‍यों नहीं हटाते

56

विनोद कुमार / जय हिन्द

20 दिन से लगातार बर्तन कारीगरों का धरना प्रदर्शन जारी

बखिरा/संतकबीरनगर। उ.प्र.के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश की कमान संभालते ही अपने सभी कार्यकर्ताओं को सख्त हिदायत दी थी कि किसी तरह का पद का दुरुपयोग नहीं करेंगे वहीं भाजपा सांसद शरद त्रिपाठी के खिलाफ लगातार 20 दिनों से अलग-अलग स्थानों पर बर्तन कारीगरों द्वारा धरना प्रदर्शन कर सांसद के खिलाफ विरोध दर्ज करा रहे हैं। भाजपा सांसद शरद त्रिपाठी का पुतला फूंका/ धरना प्रदर्शन लगातार 20 वें दिन भी जारी।ज्ञातव्य है कि बखिरा बर्तन उद्योग की दशा सुधारने के लिए वस्त्र मंत्री स्मृति ईरानी ने कलस्टर की घोषणा खलीलाबाद के हीरापीजी कालेज में की थी । उस समय यह दावा किया गया था कि कलस्टर के आ जाने से बखिरा बर्तन उद्योग व बर्तन कारीगरों के दशा व दिशा को सुधारने में मील का पत्थर साबित होगा । कलस्टर शुरू होने से पूर्व ही कलस्टर में मैनेजर पद को लेकर बखेड़ा शुरू हो गया ।बर्तन उद्योग के लिए कलस्टर आया किंतु अभी कार्य शुरु नहीं हुआ जबकि वर्ष 2016 में ही कलस्टर की घोषणा हुई थी । बर्तन कारीगरों का आरोप है कि सांसद अपने प्रभाव का प्रयोग करके कलस्टर में अपने चहेते रिश्तेदार को मैनेजर बनवा दिये । जबकि मैनेजर बनाये गये व्यक्ति को बर्तन उद्योग व कलस्टर के बारे में कोई जानकारी नहीं है । बर्तन कारीगर कलस्टर मैनेजर को हटाने के लिए निरंतर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं । बर्तन कारीगरों का कहना है कि जब तक कलस्टर मैनेजर को हटाया नहीं जाता तब तक विरोध प्रदर्शन चलता रहेगा ।बर्तन कारीगरों ने सांसद शरद त्रिपाठी व कलस्टर मैनेजर कैलाश नाथ त्रिपाठी के प्रतीकात्मक पुतले को जलाकर निरंतर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। निरंतर बर्तन कारीगरों द्वारा किए जा रहे धरना प्रदर्शन से यह सवाल उठता है कि क्या क्लस्टर योजना में सम्लित भाजपा सांसद शरद त्रिपाठी पर सुबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ बर्तन उद्योग कारीगरों के मांगों पर पर खरा उतर पाएंगे..?

LEAVE A REPLY