‘LoC क्रॉस करके हमला करना सही, भारत को अपनी सुरक्षा करने का पूरा हक’

124

richard_vermaनई दिल्ली। अमेरिका ने भारतीय सैनिकों के द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक किये जाने पर सहमति जताया है। उसने ये भी कहा है कि आतंकवाद के मुद्दे पर अमेरिका हमेशा भारत के साथ खड़ा रहेगा। भारत में अमेरिकी एम्बेसडर रिचर्ड वर्मा ने एक इंटरव्यू में कहा कि उड़ी हमले के बाद से ही दोनों देश एक साथ में थे। अमेरिका हालात पर हमेशा नजर बनाए हुए था।

फौरन भारत आएं
उन्हें अमेरिका से फौरन भारत लौटना पड़ा। एक अंग्रेजी अखबार ‘द हिंदू’ में दिए इंटरव्यू में रिचर्ड वर्मा ने कई मुद्दों पर बात की। उन्होने माना कि उड़ी हमले के वक्त वो अमेरिका में थे और उन्हें इस नाजुक हालात को देखते हुए फौरन भारत लौटना पड़ा था। वर्मा ने कहा कि हमले के बाद से ही भारत और अमेरिका के एनएसए और फॉरेन मिनिस्टर्स हमेशा साथ में थे। अमेरिका ने भारत के 2500 अफसरों को साइबर ऑपरेशन की भी ट्रेनिंग दी है।

पाकिस्तान पर कड़े रहेंगे
हम जानते हैं कि भारत क्रॉस बॉर्डर टेररिज्म का शिकार है। उन्होने एक सवाल के जवाब में कहा कि प्रेसिडेंट ओबामा, फॉरेन और डिफेंस मिनिस्टर्स के अलावा अमेरिका के एनएसए भी पाकिस्तान पर सख्ती दिखा रहे हैं। हमने साफ कहा है कि पाकिस्तान में आतंकियों की पनाहगारों को फौरन खत्म की जानी चाहिए। इसलिए हम भारत का समर्थन करते हैं।

रिचर्ड वर्मा ने टाला सवाल
वर्मा से पूछा गया कि क्या अजीत डोभाल और उनकी अमेरिकी काउंटरपार्ट सुसैन राइस की बातचीत में सर्जिकल स्ट्राइक का मुद्दा उठा था। क्या अमेरिका को पहले से पता नहीं था, कि भारत सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देने जा रहा है। इस पर उन्होने कहा कि दोनों एनएसए के बीच बातचीत प्राइवेट थी। इसलिए इस बारे में कुछ नहीं कहेंगे। लेकिन हम ये भी साफ कर देना चाहते हैं कि भारत को अपनी हिफाजत का पूरा हक है और इसके लिए वो जरूरी कदम उठा सकता है।

पाकिस्तान को 73% मदद कम
अमेरिकी एम्बेसडर रिचर्ड वर्मा ने कहा कि अमेरिका अब पाकिस्तान को दी जाने वाली मदद 73% कम कर चुका है। वर्मा से सवाल किया गया कि अमेरिका ने दबाव किया जिसका असर पाकिस्तान पर दिखता क्यों नहीं है। वहां जैश और लश्कर जैसे आतंकी संगठन लगातार एक्टिव हैं। क्योंकि पाकिस्तान सरकार आतंकवाद पर सख्त कार्रवाई नहीं कर रही है। अब एफ-16 जेट फाइटर भी अमेरिका नहीं देंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here