मॉडल प्रीति जैन को 3 साल की जेल, मधुर भंडारकर को मारने की रची थी साजिश

85

मुंबई। मुंबई सिविल और सेशन कोर्ट ने आज मॉडल प्रीति जैन को मधुर भंडारकर के खिलाफ साजिश रचने के आरोप में दोषी पाया है। प्रीती जैन को दोषी पाते हुए अदालत ने तीन साल की जेल और 10 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। इसी के साथ अदालत ने अपराध में शामिल होने के आरोप में प्रीति के दो अन्य सहयोगी नरेश परदेशी और शिवराम दास को भी तीन साल तक सजा सुनाई है। बता दें कि प्रीति जैन ने 2004 में भंडारकर के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराया था। हालांकि, वे यह साबित करने में नाकामयाब रही थीं।

गवली के गुर्गे को दी थी सुपारी

प्रॉसिक्यूशन के मुताबिक, 2005 में प्रीति ने अरुण गावली जो की पेश से गैंगस्टर है उसके साथी नरेश प्रदेशी को फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर को मारने के लिए पैसे दिए थे. बता दें की प्रीति ने मधुर भंडारकर के खिलाफ 2004 में शादी का झांसा देकर बलात्कार करने का आरोप लगाया था। इस मामले के एक साल बाद प्रीति ने मधुर भंडारकर को मारने के लिए फिरौती दी थी। प्रीति ने इस काम के लिए 75,000 रुपए दिए थे, जैसे की काम पूरा नहीं हुआ तो प्रीति ने अपने पैसे वापस मांगे जिसके बाद ये मामला पुलिस के सामने आया। इसके बाद पुलिस ने परदेशी के दोस्त शिवराम दास को गिरफ्तार कर लिया था। बता दें की शिवराम दास ने कथित तौर पर हथियार और शूटर की व्यवस्था करने में प्रीति की मदद की थी।

ऐसे हुआ था साजिश का खुलासा
भंडारकर के मर्डर की साजिश का खुलासा तब हुआ, जब गवली के वकील ने अग्रिपदा पुलिस को अलर्ट भेजा। लॉयर ने पुलिस को बताया कि भंडारकर का मर्डर न होने पर प्रीति जैन पैसे वापस मांग रही है। करीब एक हफ्ते तक पुलिस ने मामले की छानबीन की और 10 सितंबर 2005 को केस दर्ज कर लिया। पुलिस ने न केवल परदेसी को अरेस्ट किया। बल्कि उसी दिन वर्सोवा पुलिस स्टेशन की मदद से प्रीति को भी पकड़ा गया। बाद में पुलिस ने परदेसी के दोस्त शिवम दास को अरेस्ट किया, जिसने कथिततौर पर हथियार और शूटर्स अरेंज कराने में मदद की थी। इस मामले का ट्रायल शिवड़ी के फास्ट ट्रैक में शुरू हुआ था। बाद में इसे सेशन कोर्ट को ट्रांसफर कर दिया गया।

LEAVE A REPLY