भारतीयों ने भी जमाई धाक: राजा कृष्णमूर्ति व कमला हैरिस भी पहुंचे सीनेट

124

12_47_204335842collag_650_110916122017-llवाशिंगटन। अमेरिका चुनाव में 2 भारतीयों ने भी जीत दर्ज की है। भारतीय मूल की कमला ने यूएस सीनेट इलेक्शन में जीत हासिल की है। ऐसा करने वाली वह पहली भारतीय अमरीकी बन गई हैं। एक और भारतीय.अमेरिकी डैमोक्रेट राजा कृष्णमूर्ति ने एल्महस्र्ट से पूर्व मेयर और रिपब्लिकन पार्टी के पीटर डिसियान्नी को शिकस्त देकर इलिनोइस से अमेरिकी कांग्रेस का चुनाव जीत लिया।
तेंतालिस वर्षीय राजा कृष्णमूर्ति इलोनोइस के शिकागो क्षेत्र से चुनाव जीता। उन्होंने रिपब्लिक पार्टी के पूर्व मेयर पीटर डी सियाली को पराजित किया। नयी दिल्ली में पैदा हुये राजा कृष्णमूर्ति का पैतृक निवास चेन्नई में है। वह लेबोरोटरी इक्जीक्यूटिव रहे हैं। उनकी उम्मीदवारी का समर्थन बराक ओबामा ने किया था।
कृष्णमूर्ति ने ट्वीट किया शुक्रिया… इलिनोइस के 8वें डिस्ट्रिक्ट का कांग्रेस सदस्य बनकर मैं खुद को सम्मानित और अनुगृहित महसूस कर रहा हूं। कृष्णमूर्ति ने अपने विजय भाषण में समर्थकों का शुक्रिया अदा किया। दिलचस्प यह है कि अमरीकी प्रतिनिधि सभा के लिए चुने गए कृष्णमूर्ति ऐसे दूसरे हिंदू-अमरीकी हैं। टैमी डकवर्थ के इलिनोइस की अमेरिकी सीनेट सीट से जीत दर्ज करने के बाद यह सीट खाली हो गई थी और कृष्णमूर्ति तथा डिसियान्नी दोनों ही इस यहां से जीतने के लिए प्रयासरत थे। कृष्णमूर्ति को उनके प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ 54,149 की तुलना में 81,263 वोट मिले। अमरीकी चुनाव में जीत दर्ज करने वाली एक और भारतीय कमला हैरिस ने डेमोक्रेट लॉरेटा सानचेज को हराया। 51 वर्षीय हैरिस अमरीकी सीनेट में चुनी जाने वाली छठी अश्वेत हैंए 5वें अश्वेत अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा थे। बीते दो दशकों से भी ज्यादा समय में उच्च सदन में पहुंचने वाली वे पहली अश्वेत महिला हैं।

मछली और बंदर ने की थी जीत की भविष्यवाणी
नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव की विश्व भर में चर्चा है। इस चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की हिलेरी क्लिंटन और रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप मैदान में है। चुनाव के नतीजे तो बुधवार को आने है लेकिन दुनियाभर के कई हिस्सों में हिलेरी और ट्रंप की जीत को लेकर भविष्यवाणी शुरू हो गई है। मंगलवार को चेन्नई की चाणक्य नाम की मछली ने डोनाल्ड ट्रंप की जीत की भविष्यवाणी की। चाणक्य (तृतीय) ने अपना भोजन उस नाव की तरफ से खाया जिस पर ट्रंप की तस्वीर लगी हुई थी।

अमेरिकी सदन में चुनी गईं भारतीय-अमेरिकी जयपाल
न्यूयार्क। प्रमिला जयपाल आज अमेरिकी प्रतिनिधिभा में चुनी जाने वाली पहली भारतीय-अमेरिकी महिला बन गई हैं। उन्होंने वॉशिंगटन राज्य की सीनेट सीट जीती है। वाशिंगटन राज्य से 51 वर्षीय जयपाल को 57 फीसदी वोट मिले जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी ब्रेडी वॉकिनशॉ को 43 फीसदी वोट मिले। उनकी जीत का श्रेय उनके प्रगतिशील एजेंडे को जाता है। जयपाल ने वाशिंगटन स्टेट के सातवें जिले से चुनाव लड़ा था। इसके अंतर्गत सीटल और इर्द-गिर्द के इलाके आते हैं। डेमोक्रेटिक सीनेटर बर्नी सेंडर्स ने उनका समर्थन किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here