धर्मशाला में न्यूजीलैंड को वनडे में धूल चटाने आज उतरेंगे धोनी के धुरंधर

159

dharmshala-stadium

धर्मशाला। टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड को क्लीन स्वीप करने के बाद आत्मविश्वास से लबरेज टीम इंडिया अब कीवियों के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने उतरेगी। पांच मैचों की सीरीज का पहला मैच 16 अक्टूबर को धर्मशाला में खेला जाएगा। कप्तान विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम ने टेस्ट सीरीज में 3-0 की जीत के साथ ही आईसीसी टेस्ट रैंकिंग के शीर्ष स्थान हासिल किया है।

धोनी करेंगे कप्तानी
महेंद्र सिंह धोनी सीमित ओवरों की सीरीज में कोहली की जगह कप्तानी करते नजर आएंगे। टेस्ट सीरीज में कोहली की अगुआई में टीम ने शानदार प्रदर्शन किया। अब धोनी पर दबाव है क्योंकि आईसीसी वनडे रैंकिंग में तीसरा स्थान दोबारा हासिल करने के लिए भारत को सीरीज 4-1 जीत होनी चाहिए। न्यूजीलैंड फिलहाल 113 अंक के साथ तीसरे स्थान पर है जबकि भारत 110 अंक से चौथे स्थान पर है।

भारत हालांकि सीरीज की शुरुआत प्रबल दावेदार के रूप में करेगा। न्यूजीलैंड ने भारत में कभी द्विपक्षीय सीरीज नहीं जीती है और पिछले चारों मौकों पर उसे हार का सामना करना पड़ा है। कई टीमों की प्रतियोगिता में हालांकि न्यूजीलैंड ने भारत में 18 मैच जीते हैं जबकि 11 मैचों में उसे शिकस्त का सामना करना पड़ा है लेकिन टीम कभी द्विपक्षीय वनडे सीरीज नहीं जीत पाई। न्यूजीलैंड को दोनों टीमों के बीच 1988, 1995, 1999 व 2010 में हुई थी। जिसमें पिछली द्विपक्षीय वनडे सीरीज में कॉफी झेलनी पड़ी।

दोनों टीमों के बीच अब तक 93 मैच हुए
वर्ष 2010 में हुई पिछली सीरीज में कई खिलाड़ियों की गैर मौजूदगी में भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड को 5-0 से हराया था। दोनों टीमों के बीच अब तक 93 मैच हो गए हैं। जिसमें भारत ने 46 जीत दर्ज की तो वही न्यूजीलैंड ने 41 जीत दर्ज की हैं। पांच मैचों का कोई नतीजा नहीं निकला, जबकि एक मैच टाई रहा। हालांकि न्यूजीलैंड ने दोनों टीमों के बीच खेले गए पिछले पांच वनडे मैचों में से चार जीते हैं जबकि एक टाई रहा।

कप्तान एम एस धोनी की मौजूदगी के बावजूद टीम इंडिया को आर अश्विन, रविंद्र जडेजा व मोहम्मद शमी जैसे तीन खिलाड़ियों की कमी खलेगी। अगले व्यस्त कार्यक्रम को ध्यान में रखते हुए, इनको आराम दिया गया है। उनके जगह आफ स्पिनर जयंत यादव, बायें हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल व तेज गेंदबाज धवल कुलकर्णी को राष्ट्रीय चयनकर्ताओं के सामने खुद को साबित करने का मौका मिलेगा। धोनी को सबसे ज्यादा कमी आर अश्विन की खलेगी, जो पिछले कुछ समय से गेंद और बल्ले दोनों से अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। अश्विन ने टेस्ट सीरीज में 27 विकेट चटकाए।

जिंबाब्वे और अमेरिका के दौरे से बाहर किए गए हार्दिक पंड्या की भी राष्ट्रीय टीम में वापसी हुई है। पीठ में खिंचाव से उबर रहे तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और अनुभवी इशांत शर्मा भी टीम का हिस्सा नहीं हैं। चिकनगुनिया के कारण इशांत टेस्ट सीरीज में भी हिस्सा नहीं ले पाए थे। न्यूजीलैंड के खिलाफ इंदौर में अंतिम टेस्ट में करियर की सर्वश्रेष्ठ 211 रन की पारी खेलने के बाद कोहली का आत्मविश्वास बढ़ा हुआ होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.