राजभवन में बाबाओं का ‘योग’

65

लखनऊ। राजभवन बुधवार को दो बाबाओं के योग का गवाह बना। इंटर नेशनल योगा डे से पहले बुधवार को यहां गवर्नर हाउस के कैम्पस में योग क‍िया गया। इस दौरान स्वामी रामदेव ने गवर्नर राम नाइक, सीएम योगी आदित्यनाथ, कैबिनेट मिन‍िस्टर्स को योग कराया। प्रोग्राम में योगाचार्य चिन्मय पांडया और स्वामी भारत भूषण ने भी हिस्सा लिया। इस मौके पर योगी ने कहा, ”पीएम मोदी की कोश‍िश से योग को अंतरराष्ट्रीय मान्यता मिली, जिस पर देश गर्व करता है। आज का योग दिवस एक ऐतिहासिक क्षण है। ये राजभवन के इतिहास में पहली बार है, जब योग का आयोजन किया गया।” रोज मीड‍िया घुमाती है, आज मीड‍िया को पीछ‍े घुमाया।
– योगी ने कहा, ”रोज मीडिया हमें घुमाती है, आज हमने सुबह मीड‍िया को बुलाकर अपने पीछे घुमाया है। मैं मीडिया बंधुओ को भी योग करने के लिए कहूंगा।”- ”यूपी के राजभवन ने प‍िछले 3 सालों में जनता के हितों पर ध्यान द‍िया है। उसके पहले त‍क आम जनता का आना भी यहां वर्जित था, लेकिन राम नाइक जी के आने के बाद राजभवन वाकई जनता से जुड़ गया। यही कारण है कि हम लोग यहां योग के प्रोग्राम में आए हैं।”
राम नाईक ने क्या कहा
-इस मौके पर गवर्नर राम नाइक ने कहा, ”जब मैंने शपथ ली थी तो मीडिया ने पूछा कि आप प्रदेश के लिए क्या करेंगे? मैंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार को जोड़कर जनता को न्याय दिलाने के लिए काम करेंगे।”- ”यहां दो महायोगी हैं। एक योगी राजयोगी है तो दूसरा महायोगी जाे असली योगी है, जिसने दुनिया को भारतीय सभ्यता की पहचान कराई। हर व्यक्ति को योग से जोड़ दिया। 21 जून को एक साथ 200 देश जुड़ेंगे। करोड़ों लोग देश में भी योग करेंगे। अपने पूर्वजों को इससे बढ़िया आप क्या दे सकते हैं।”
हेल्थ मिनिस्टर सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा, ”ये हर व्यक्ति को योग से जोड़ने की एक छोटी सी पहल है। निश्चित तौर पर लोगों में बहुत कम समय में योग ने जगह बनाई है, जो एक शुभ संकेत है।”

LEAVE A REPLY